Amvla benefits


आंवला के फायदे-


दोस्तों आप सभी का मैं एक बार फिर तहे दिल से मेरे ब्लॉग पर स्वागत करता हूं दोस्तों आज हम जानेंगे कि आंवला के ऐसे कौन कौन सेऔषधीय  गुण हैं जो हमारे लिए बहुत ही हितकारी सिद्ध हो सकते हैं। दोस्तों आंवला भारत में बहुत ही प्रचलित है और इसका मुरब्बाभी बहुत ही प्रसिद्ध है विशेष तौर पर आंखोंऔर वालों से संबंधित समस्याओं में इसका उपयोग एक सामान्य बात है परंतु इनके अलावा भी बहुत से ऐसे रोग हैं जिसमें इसका उपयोग किया जा सकता है। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको उन्हीं सभी रोगों में प्रयोग विधि के विषय में बताएंगे तो चलिए प्रारंभ करते हैं
आंवला के फायदे, benifits of amvla

                                                                 आंवला के फायदे

वात, पित्त और बात-

                         आंवला बात, पित्त और कफ तीनों में ही बहुत ही गुणकारी हैक्योंकि शरीर में यदि किसी भी बीमारी का जन्म होता है तो इसके पीछे सबसे बड़ा कारण वात, पित्त और कफ होता है और आंवला के प्रयोग से इन्हीं तीनों कारकों का समाधान होता है जिससे कम से कम बीमारियों का प्रभाव होता है अतः आपको प्रतिदिन दोआब ले का सेवन तो अवश्य करना चाहिए

दीर्घायु के लिए –   

                    दोस्तों वैज्ञानिक इस बात को सिद्ध कर चुके हैं कि आंवला एंटीऑक्सीडेंट फल है क्योंकि हमारे शरीर में ऑक्सीडेशन की क्रिया होती रहती है जिससेहमारी उम्र कम होती जाती है। एंटी ऑक्सीडेंट फल होने के कारण आंवला ऑक्सीडेशन की क्रिया को कम कर देता है जिससे कि हमें दीर्घायु प्राप्त होती है। यही कारण है कि पुराने समय में ऋषि मुनि इतनी ज्यादा अवस्था तक जीवित रह पाते थे अतः हमें इसे अपने भोजन में अवश्य सम्मिलित करना चाहिए

आंवला और एलोवेरा जूस का उपयोग

                                                  आंवला जूस, एलोवेरा का जूस का उपयोग करने से विभिन्न प्रकार के रोग ठीक हो जाते हैं इसको पीने से जिस व्यक्ति को भूख नहीं लगती है उसे भूख लगने लगती है, पेट साफ रहता है, मेटाबॉलिज्म कम रहता है बालों की प्रत्येक समस्या ठीक हो जाती है और इसी प्रकार विभिन्न प्रकार की समस्याओं में लाभ होता है इसको आप सुबह सुबह उठते ही दो से चार चम्मच लेकर गर्म पानी के साथ सेवन करें यदि आप ऐसा प्रतिदिनकरतेहैंतो बहुत जल्दी आपको उपयुक्त सभी समस्याओं में लाभ महसूस होने लगेगा जिन लोगों को आंखों से संबंधित कोई समस्या है जैसे- मोतियाबिंद,कम दिखाई देना, आंखों में दर्द रहना आदि तो वह भी इस जूस का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा यह स्क्रीन को भी सुंदरता प्रदान करता है और इसका सबसे बड़ा लाभ गठिया रोग में है इसके उपयोग से गठिया रोग तो जड़ से खत्म हो जाता है



हड्डियों के लिए

                    आंवले से बेहतर विटामिन सी का स्रोत कोई नहीं है लगभग 100 ग्राम आंवले में 2 किलो संतरे के बराबर विटामिन होता है इसके अलावा इसमें कैल्शियम और एंटी इन्फ्लेमेटरी की भी पर्याप्त मात्रा होती है जो कि हमारी हड्डियों को मजबूत बनाती है अगर समय रहते इसका इलाज ना किया जाए तो यह आर्थराइटिस जैसे कभी समस्या का रूप ले लेती है।अतः इसके इलाज के लिए आपको प्रतिदिन आंवले का उपयोग करना चाहिए और साथ ही साथ जैसा कि ऊपर बताया गया है कि आंवला और एलोवेरा का जूस भी इसके लिए रामबाण औषधि है

आंखों की रोशनी के लिए

                                   टीवी, मोबाइल और लैपटॉप आदि सभी यंत्रों का उपयोग तो सभी करते हैं क्योंकि लगभग यह सभी यंत्र मानव जीवन की महत्वपूर्ण आधारशिला बन गयेहैं जिसके फलस्वरूप अधिक उपयोग से यह सबसे ज्यादा हानि हमारे नेत्रों को पहुंचाते हैं और इसके फलस्वरूप कम उम्र में ही आंखों पर चश्मा चढ़ जाता है परंतु यदि आंवले को शहद के साथ मिलाकर उपयोग किया जाए तो इससे यह सभी समस्याएं स्वत: ही ठीक हो जाते हैं इसके उपयोग से आंखों की रोशनी ठीक हो जाती है और आंखों के संक्रमित होने का खतरा भी कम हो जाता है
benifits of amvla, amvla ke fayde
आंवला के फायदे

पथरी की समस्या में

                            जिस व्यक्ति को गुर्दे में पथरी बन गई है इसके लिए उसे प्रतिदिन आंवले का जूस प्रयोग में लाना चाहिए इससे पथरी के दर्द मेंआराम मिलता हैऔर साथ ही साथ पथरी गलकर स्वत: ही निकल जाती है

खून साफ करने के लिए

                                   अधिकतर जिन लोगों को मुहांसे,ऑइली स्किन या फिर स्किन संबंधी और कोई भी समस्या खून के गंदा हो जाने के कारण ही होती है इसके लिए आप प्रतिदिन आंवले का जूस का प्रयोग करें क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट गुण के साथ साथ एंटीबैक्टीरियल गुण भी मौजूद होते हैं जो खून को साफ करने में काफी अधिक मददगार हैं इसके अलावा सौंफ को चबाने से भी खून में उपस्थित अशुद्धियां दूर हो जाती हैं

कैंसर के लिए -

                    बुखार जैसी सामान्य बीमारी की भाँति कैंसर भी आजकल सामान्यता पाया जा रहा है इसके ऊपर मैं अलग से पोस्ट भी लिख चुका हूं अगर आप उसे पढ़ना चाहते हैं तो किसी भी कैंसर शब्द पर क्लिक करें। कैंसर के इलाज में आंवले का उपयोग किया जा सकता है क्योंकि इसमें उपस्थित एन्टीकैंसरगुण कैंसर के सेल्स को कमजोर कर देते हैं और कैंसर का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है

सौंदर्य के लिए

                     इसके लिए आपको आंवले के अलावा दो और चीजों की भी आवश्यकता होगी शहद और पपीता जो कि आपको बहुत ही आसानी से उपलब्ध हो जाएंगे। अब इसके पश्चात पपीते की कुछ टुकड़ों को मसल लें और उसमें एक चम्मच आंवले का पेस्ट और आधा चम्मच शहद मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को फेस मास्क की तरह अपने चेहरे पर लगा ले और थोड़ी देर सूखने के बाद गुनगुने पानी से धो लें ऐसा करने से आपकी त्वचा की रंगत में गोरा निखार आने लगेगा

लीवर के लिए

                    कभी-कभी गलत खान पान से लीवर कमजोर हो जाता है या अक्सर ही ये देखा जाता है कि छोटे बच्चे खाना हजम नहीं कर पाते क्योंकि उनका लीवर कमजोर होता है तो उसके लिए आपको आंवले और आंवले का जूस का उपयोग करना चाहिए इसके अलावा इसके उपयोग से पाचन शक्ति भी बढ़ जाती है और भूख भी अधिक लगने लगती हैं अतः प्रत्येक व्यक्ति को आंवले का उपयोग अवश्य करना चाहिए

दोस्तों बड़े बूढ़ों ने कहा है कि किसी भी चीज की अधिकता नुकसानदायक होती है अत: आंवले का अधिक प्रयोग नहीं करना चाहिए और इसके उपयोग के बाद भरपूर मात्रा में पानी अवश्य पीना चाहिए अन्यथा यह त्वचा की नमी को कम कर देता है और इसके अलावा इसकी ठंडी तासीर की वजह से सर्दी, खांसी व जुकाम भी हो सकता है अतः आवश्यकतानुसार ही इसे प्रयोग में लाना चाहिए

तो दोस्तों मैं आशा करता हूं कि यह सभी जानकारी आप सभी के लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध होगी और अब आपआंवलेके उपयोग को भी भली-भांति समझ गए होंगे तो आप सभी इसी प्रकार मेरा साथ देते रहिए और हमेशा मुझे इसी प्रकार आप सभी से प्यार मिलता रहे इसी कामना से मैं आप सभी का कोटि-कोटि धन्यवाद करता हूं

Previous
Next Post »

for more information plz comment below ConversionConversion EmoticonEmoticon