Asthma ke upchar

asthma ke upchar in hindi-


स्थमा एक ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति की प्रत्येक क्रिया को बाधित कर देती है। इसका प्रमुख प्रभाव व्यक्ति के श्वसन मार्ग अर्थात श्वास नली पर पड़ता है जिस कारण उसकी ्वसन नली में सूजन आ जाती है सामान्यतया इसे दमा के नाम से भी जाना जाता है और यह अधिकतर अनुवांशिक या पर्यावरणीय कारकों के द्वारा ही होता है।वैसे तो इसकाएलोपैथी मेंइसकाइलाजहै परंतु उससे यहजड़से खत्म नहीं हो पाता है। इसलिए आज हम आपको ऐसे घरेलू उपाय बताएंगे जो अस्थमा को जड़ से खत्म कर देंगे तो चलिए अब उन सभी उपायों को वर्णित कर लेते हैं
asthma treatment, dama ke gharelu upay
asthma ke upchar


प्याज, अदरक, तुलसी और शहद से

                                                   दोस्तों यह सभी चीजेंआपको बहुत ही आसानी से अपने घर और रसोई में ही मिल जाएंगी।अब इसके द्वारा औषधि बनाने के लिए आधा प्याज, छोटा सा अदरक का टुकड़ा और चार से पांच तुलसी के पत्ते को मिक्सी में अच्छी तरह पीस लीजिए और अब इस पेस्ट को अच्छी तरह कपड़े के माध्यम से छानकर जूस निकाललीजिये। अब आधे गिलास पानी गर्म करके उसमें इस जूस को मिलाकर उसमें दो चम्मच शहद मिला लीजिए अब इस जूस को प्रतिदिन सुबह नाश्ते के साथ सेवन कीजिए। प्रतिदिन ऐसा करने से फेफड़ों की नली में आई सूजन कम होने लगती है और अस्थमा ठीक होने लगता है। एक बात याद रखें कि यह सभी उपयोग की गई सामग्री केवल एक बार का जूस बनाने के लिए ही है क्योंकि आपको प्रतिदिन इसका सेवन करना है अतः प्रतिदिन आपको इसी प्रकार जूस बनाना है और इसी प्रकार उसका सेवन करना है
और पढ़े (Tulsi Ke Fayde In Hindi)

शहद और भीमसेनी कपूर द्वारा

                                            सामान्यतया शहद तो आपको घर में ही उपलब्ध हो जाएगा और भीमसेनी कपूर आपको बहुत ही आसानी से किसी भी पंसारी की दुकान पर मिल जाएगा। दोस्तों यह भीमसेनी कपूर पूजा में प्रयोग किए जाने वाले कपूर से कई गुना अच्छी क्वालिटी का होता है दोस्तों इस से हम जो भी है नुस्खा तैयार करेंगे उसे हमें इन्हेलर की भांति उपयोग करना है।नुस्खा बनाने के लिए आप दो चम्मच शहद में दो चम्मच भीमसेनी कपूर का चूरा बनाकरमिला लीजिए और अब इसे किसी कांच या प्लास्टिक के जार में रखलीजिये। अब आपको इसे 1 से 2 घंटे के अंतराल में दो से चार बार गहरी सांस लेकर सूंघतेरहना है और सूंघने के पश्चात जार का ढक्कन बंद अवश्य कर दें वरना इसकी गुणवत्ता कम हो जाएगी। दोस्तो ऐसाआपको प्रतिदिन तैयार करना है और उसे पूरे 1 दिन तक इसी प्रकार इस्तेमाल करना है। अस्थमा को तो यह जड़ से खत्म कर देता हैऔर साथ ही साथयहनुस्खा बंद नाक, सिर दर्द, जुकाम और जोड़ों के दर्द में भी फायदा करता है। इसे सभी रोगों में इसी प्रकार उपयोग किया जाता है

अदरक, नींबू, दालचीनी, शहद और लाल मिर्च पाउडर द्वारा-

                                                                                   दोस्तों दालचीनी और लाल मिर्च पाउडर आपको बाजार में उपलब्ध हो जाएगा परंतु एक बात याद रखें कि लाल मिर्च पाउडर घर में इस्तेमाल होने वाला उपयोग नहीं करना है। उसकी जगह आपकोकायेन पेपर का इस्तेमाल करना है।जोकि आपको बहुत ही आसानी से किसी भी ऑनलाइन साइट पर मिल जाएगा अथवा आपकी सुविधा के लिए मैंने नीचे लिंक दिया हुआ है आप वहां से जाकर ऑर्डर कर लीजिएगा। ऑर्डर करने के लिए लिंक पर क्लिक करें।
अब आप सभी सामग्री एकत्रित करने के पश्चात डेढ़कपपानी को अच्छी तरह बॉयल करें और उसे एक कांच के गिलास में कर ले। अब इस पानी में आप आधा चम्मचकायेनपेपर पाउडर, आधा चम्मच दालचीनी पाउडर, एक चम्मच अदरक का रस, एक चम्मच नीबू का रस और दो चम्मच शहद मिलाकर अच्छी तरह मिक्स कर ले।अब इस ड्रिंक को प्रतिदिन रात को सोने से पहलेचाय की तरह उपयोग करें। ऐसा करने से फेफड़ों की नालियों में आई सूजन और उन में जमा हुआ कफ भी कम हो जाता है औरअस्थमा कुछ ही दिनों में जड़ से समाप्त हो जाता है

योगासन के द्वारा

                           दोस्तों योगासन के द्वारासभी प्रकार के रोगों का इलाज किया जा सकता है परंतु प्रत्येक रोग के लिए जिस प्रकार एक विशेष दवा होती है उसी प्रकार विशेष आसन भी होते हैं। जो भी व्यक्ति अस्थमा से ग्रसित है उसे सर्वांगासन, अनुलोम विलोम, कपालभाति, भुजंगासन,उज्जयी प्राणायाम और भ्रामरी प्राणायाम को करना चाहिए। यह सभी हमारे फेफड़ों को और श्वसन तंत्र को मजबूत बनाते हैं जिससे अस्थमा भी समाप्त हो जाता है। इसके साथ साथ अस्थमा के रोगी को सुबह सुबह 1 घंटे की धूप में अवश्य बैठना चाहिए ऐसा करने से फेफड़ों की नलियों की सूजन स्वत: कम होने लगती है

लोंग और शहद के द्वारा

                                    इस नुस्खे को तैयार करने के लिए आप लगभग 125ml पानी में 4 से 5 लोंग डालकर गर्म करें गर्मकरने के दौरान एक बात याद रखें कि गर्म तब तक करना है जब तक की पानी का रंगभूरा ना हो जाए।भूरा होने के बाद इसे कुछ देर ठंडा होने दें और ठंडा होने के पश्चात इसमें एक चम्मच शहद को अच्छी तरह मिला लें। एक बात याद रखें कि शहद को गर्म पानी में मिलाकर इस्तेमाल ना करें क्योंकि यह आपका वजन कम कर देगा। हल्के गुनगुने पानी में ही मिलाएं और मिलाने के पश्चात इसे छान ले और फिर सुबह सुबह नाश्ते से पहले इसे इस्तेमाल करें लगभग 1 महीने तक इसका इस्तेमाल करने पर अस्थमा जड़ से खत्म हो जाता है

मेथी पाउडर और अदरक के रस द्वारा – 

                                                      दोस्तों इसको आपको सुबह सुबह ही सेवन करना है। इस नुस्खे को बनाने के लिए आप चार चम्मच अदरक के रस में आधा चम्मच मेथी पाउडर अच्छी तरह मिला लें और इसे सुबह सुबह पियें। दोस्तों कुछ दिन तक लगातार ऐसा करने से अस्थमा जड़ से खत्म हो जाता है
asthma ke gharelu upay, asthma ke ramban upay
asthma ke upchar


दालचीनी और गुड़ से

                               दालचीनी भारत में बहुत ही प्रचलित मसाला है परंतु बहुत कम लोग इस बातको जानते हैं कि इससे अस्थमा का सफल इलाज हो सकता है। दोस्तों इसके द्वारा अस्थमा का इलाज करने के लिए आप थोड़े से दालचीनी पाउडर में थोड़ा सा गुड़काचूरा अच्छी तरह मिला लेऔर फिर इसे अच्छी तरह चबा चबाकर खाएं और दोस्तों जब यह खत्म हो जाए तब इसके ऊपर थोड़ा सा नारियल भी खूब चबाकर खाएं। इस नुस्खे का उपयोगआपको दिन में दो से तीन बार करना है यदि आप इसे इसी प्रकार उपयोग करेंगे तोअस्थमा इसके इस्तेमाल से अवश्य ही जड़ से समाप्त हो जाएगा।

आंवला और शहद से– 

                                दोस्तों इस नुस्खे का उपयोग हमें दिन में सिर्फ दो बार ही करना है सुबह उठने के तुरंत बाद और एक बार रात में सोने से पहलेदोस्तोंइसमेंहमे एक चम्मच आंवले के रस को लेना है और उसे एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर सेवन करना है। यदि आप इस नुस्खे का उपयोग इसी प्रकार करते रहेंगे तो अवश्य ही आप अस्थमा से मुक्ति पा लेंगे।

सहजन की पत्तियों से

                             दोस्तों इसके लिए हमें 12-15 सहजन की पत्तियों को पीसकरएक गिलास पानी में उबालकर जूस बना लेना है और अब इस जूसमें तीन से चार काली मिर्च और एक नींबू का रस और स्वादानुसार नमक डालें।अबइसतैयारजूसको दिन में दो बार सोने से पहले और जागने के बाद उपयोग करें और जल्द ही अस्थमा में फर्क महसूस करें। 

हल्दी और सफेद फिटकरी से– 

                                           इसके द्वारा अस्थमा के इलाज के लिएसर्वप्रथम हमें फिटकरी को भूनना है और भुनने के पश्चात उसका पाउडर बना लेना है।अबहमें दो चम्मच पाउडर में दो चम्मच हल्दी को मिलाना है बसइसप्रकारयहनुस्खा तैयार हो गया। अब हमें इस तैयार नुस्खे को थोड़ा थोड़ा करके दिन में दो बार गर्म पानी के साथ उपयोग करना है। प्रतिदिन इसी प्रकार यदि आप इस नुस्खे का उपयोग करते रहेंगे तो आपका अस्थमा पूर्ण रूप से ठीक हो जाएगा।

परंतु दोस्तों जैसा कि मैं हमेशा कहता हूं कि आप कितना भी महंगे से महंगा इलाज क्यों न करवालें परंतु यदि आप परहेज नहीं करेंगे तो सब कुछ व्यर्थ है। तो इसी कारण आप इन 10 उपायों में से कोई भी उपाय प्रयोग में लाएं परंतु किसी भी उपाय के दौरान तेज मिर्च मसाला, तली हुई चीजों, जंक फूड आदि का कम से कम इस्तेमाल करें। विशेषकर सुगंध वाली चीजों से दूर रहें सिगरेट आदि धुँआयुक्त चीजों से दूर रहने का प्रयास करें। अधिक घुटन वाली जगह में ज्यादा देरनरहें। दोस्तों यदि आप इन बातों का इलाज के दौरान ध्यान रखेंगे तो मैं गारंटी देता हूं कि प्रत्येक इलाजपूर्ण रूप से लाभ प्रदान करेगा।

तो दोस्तों मैं आशा करता हूं यह सभी उपाय आप सभी के लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध हो और आप सभी का प्यार और स्नेह मुझे इसी प्रकार मिलता रहे।



Previous
Next Post »

for more information plz comment below ConversionConversion EmoticonEmoticon