Ayurvedic treatment for piles

Ayurvedic treatment for piles in hindi-

दोस्तों वैसे तो हर रोग ही होता है परंतु कभी-कभी कुछ रोग ऐसे भी होते हैं जो की असहनीय हो जाते हैं और बवासीर भी उनमें से एक है। दोस्तों यह एक ऐसी बीमारी है जो कि बहुत ही कष्टकारी होती है और शरीर को दुर्बल भी बना देती है। यह बीमारी शरीर को इतना कमजोर कर देती है कि व्यक्ति का चलना फिरना तो दूर व्यक्ति उठकर भी पलंग से नहीं बैठ पाता। वैसे तो इसका अंग्रेजी दवाओं द्वारा कोई भी संभव इलाज नहीं है परंतु यदि घरेलू उपायों का उपयोग किया जाए तो अवश्य ही इस बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सकता है और आज हम आपको उन्हीं सभी उपायों के विषय में बता रहे हैं। आशा करते हैं कि यह सभी उपाय आपके लिए बहुत ही अधिक लाभकारी होंगे।
best ayurvedic medicine for piles and fissure,  ayurvedic medicine for piles dabur,  ayurvedic medicine for piles at patanjali,  best ayurvedic medicine for piles in kerala,  piles treatment at home,  ayurvedic medicine for piles after delivery,  piles medicine name,  piles treatment in homeopathy,
Ayurvedic treatment for piles

एलोवेरा के द्वारा

                         दोस्तों बवासीर की बीमारी एक बहुत ही गंभीर बीमारी है। इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति इस बीमारी को सही करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाता है परंतु अब चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि एलोवेरा के माध्यम से बवासीर का संभाव इलाज किया जा सकता है। इसके लिए एलोवेरा के गूदे में थोड़ी मात्रा में पिसा हुआ गेरू मिलाकर मस्सों पर बांधने से जलन व पीड़ा कम हो जाती है और साथ ही साथ बवासीर भी जड़ से समाप्त हो जाती है।ये एकदम रामबाण इलाज है बवासीर को जड़ से खत्म करने के लिए। इसके द्वारा सालों पुरानी बवासीर का भी सफल इलाज किया जा सकता है

दही के द्वारा

                  दोस्तों बवासीर बहुत ही गंभीर बीमारी है और अक्सर इस रोग से ग्रसित व्यक्ति को गर्म चीजें और वादी पैदा करने वाले खाद्यान्न बिल्कुल जहर समान होते हैं।क्योंकि दही की तासीर काफी अधिक ठंडी होती है जिसका कारण इस रोग में यह बहुत ही अधिक लाभकारी है।इसमें आप तेज मिर्च मसालों युक्त सब्जी, दाल आदि के साथ रोटी ना खाकर दही के साथ कुछ दिनों तक खाएं आप चाहे तो केवल दही का भी उपयोग कर सकते हैं परंतु तेज मसालों का प्रयोग न करें। कुछ दिनों तक नियमित इसके उपयोग से यह बीमारी हमेशा के लिए ठीक हो जाती है
जरूर पढ़े-(Benefits of curd)

करेले के द्वारा

                  करेले के द्वारा बवासीर का सफल इलाज किया जा सकता है।इसके लिए करेले के बीजों को सुखाकर उसका पाउडर बना लें और अब इस पाउडर में थोड़ा सा शहद व सिरका मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें और इस पेस्ट को लगातार एक महीने तक मस्सों पर लगाएं। ऐसा करने से मस्से सूखकर झड़ जाते हैं और बहुत जल्द ही हमेशा के लिए यह रोग ठीक हो जाता है

संतरे के द्वारा

                  बवासीर से पीड़ित व्यक्ति को भोजन के पश्चात आधे गिलास संतरे के जूस का सेवन अवश्य करना चाहिए इससे बहुत जल्द ही बवासीर में आराम मिलता है। इसके अलावा आप उसके छिलकों को छांव में सूखा ले और फिर उसे बारीक पीसकर उसका पाउडर बना लें। अब आप इस पूरे पाउडर में घी की बराबर मात्रा मिलाकर अच्छी तरह पेस्ट बनाकर रख लें और दिन में तीन बार एक एक चम्मच इस पेस्ट का सेवन करें ऐसा करने से बवासीर जड़ से समाप्त हो जाती है
जरूर पढ़े-(Benefits of orange juice)

तुलसी के द्वारा

                    दोस्तों तुलसी एक ऐसा प्राकृतिक औषधि युक्त पौधा है जो कि सभी के घरों में बहुत ही आसानी से मिल जाता है परंतु बहुत ही कम लोग यह जानते हैं किइसके द्वारा बवासीर का इलाज किया जा सकता है। इसके लिए आप इसके 5-6 ताजे पत्तों को लेकर दही में पीसकर प्रतिदिन कुछ दिनों तक खाएं ऐसा करने से बहुत जल्द ही यह रोग ठीक हो जाता है
जरूर पढ़े-(Tulsi Ke Fayde)

मट्ठे के द्वारा

                 बवासीर के मस्सों को हमेशा के लिए ठीक करने के लिए आप 2 लीटर मट्ठे में 50 ग्राम पिसा हुआ जीरा और स्वादानुसार नमक मिला लें और प्यास लगने पर पानी के स्थान पर इसका सेवन करेंलगभग4 दिन तक प्रतिदिन ऐसा करने से मस्से ठीक हो जाते हैं और फिर कभी भी यह बीमारी जीवन में दोबारा आपको नहीं होगी।

काले तिल के द्वारा

                         तिल के द्वारा खूनी बवासीर को जड़ से बहुत ही आसानी से खत्म किया जा सकता है।इसके लिए आप 10 से 12 ग्राम धुले हुए काले तिल लीजिए और उन्हें लगभग 10 ग्राम ताजे मक्खन में मिलाकर खाइए। ऐसा करने से कुछ ही दिनों के भीतर यह रोग जड़ से समाप्त हो जाता है। ताजी मक्खन को आप घर पर मलाई को चलाकर निकाल सकते हैं

बड़ी इलायची के द्वारा

                              इसके द्वारा नुस्खे को बनाने के लिए 50 ग्राम बड़ी इलायची को लेकर तवे पर रखकर भूनते हुए जला लीजिए और ठंडी होने के बाद इसको पीसकर इसका पाउडर बना लीजिये अब आप इस पाउडर को नियमित रूप से सुबह खाली पेट पानी के साथ उपयोग कीजिए ऐसा करने से 100% यह रोग ठीक हो जाता है।
best ayurvedic medicine for piles and fissure,  ayurvedic medicine for piles dabur,  ayurvedic medicine for piles at patanjali,  best ayurvedic medicine for piles in kerala,  piles treatment at home,  ayurvedic medicine for piles after delivery,  piles medicine name,  piles treatment in homeopathy,
Ayurvedic treatment for piles

आंवले के द्वारा

                      आंवला लगभग हररोग में ही लाभप्रद फल है इसी कारण इसे अमृत फल भी कहा जाता है। इसके द्वारा बवासीर की बीमारी का सफल इलाज शत-प्रतिशत किया जा सकता है। बवासीर की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए सुबह शाम इसके चूर्ण को शहद के साथ मिलाकर पीना चाहिए। इसके नियमित रूप से उपयोग करनेपर यह समस्या बहुत ही जल्द जड़से खत्म हो जातीहै।
जरूर पढ़े-(Amvla benefits)

नीम के द्वारा

              नीम के छिलके रहित निम्बोरी का पाउडर बना कर रख लीजिए और प्रतिदिन इस पाउडर की 10 ग्राम मात्रा को रात में पानी में भिगोकर रख दीजिए और सुबह इसको बिना छाने पी लीजिए। ऐसा करने से बहुत जल्द ही यह रोग ठीक हो जाता है। इसके अलावा इसके तेल को मस्सों पर लगाने से बहुत जल्दी मस्से सूखकर अलग हो जाते हैं

तो दोस्तों मैं आशा करता हूं कि यह सभी जानकारी आपके लिए बहुत ही अधिक लाभकारी होगी और कृपया इस जानकारी को सभी लोगों को शेयर अवश्य करें आशा है किआप सभी का प्यार और साथ मुझे इसी प्रकार मिलता रहेगाऔर मैं हमेशा इसी प्रकार की जानकारी आपके लिए लाता रहूँगा।
Previous
Next Post »

for more information plz comment below ConversionConversion EmoticonEmoticon